हरियाणा मजदूर कार्ड केसे बनाये | हरियाणा लेबर कार्ड ऑनलाइन आवेदन | मजदुर कार्ड हरियाणा | Haryana Labour Card Kaise Banae || Haryana Majdur Card Online Registration

By | October 12, 2020

हरियाणा मजदूर कार्ड कैसे बनवाये:- भारत देश की जनसँख्या का एक बड़ा हिस्सा निर्माण कार्य से मजदूरी करके अपना पेट भरता है और इन लोगो के लिए कोई स्थायी वेतन या मजदूरी नहीं होती है इसलिए सरकार ने इनके हितो के बारे में सोचते हुए मजदूर कार्ड बनवाने की योजना शुरू की है । मजदूर कार्ड के बनते ही श्रमिकों को बहुत सी योजनाओ  फायदा मिलेगा.

इस  योजना  को पुरे भारत वर्ष मे लागु किया गया है  इस योजना के अंदर आने वाले मजदूरों को यूनिक आईडी कार्ड मिलेगा  व इस योजना का दूसरा नाम  श्रमिक पंजीकरण अभियान भी है

Haryana Majdur Card

Haryana Majdur Card

हरियाणा मजदूर कार्ड योजना 2020

दोस्तों हरियाणा सरकार ने अपने प्रदेश के मजदूरों के विकास के लिए हरियाणा मजदूर कार्ड बना रही है. ताकि गरीब परिवार के लोग जो मजदूरी करके अपना जीवन यापन करते है. जेसे निर्माण कार्य में लगे मजदूर, डेली दिहाड़ी मजदूर, इट भट्टे पर कम करने वाले मजदूर आदि. सरकार ने इनके विकास और इनको सरकारी योजनाओ का लाभ देने के लिये मजदूर कार्ड बना रही है. ताकि इनको भी अन्य वर्क्स की तरह एक पहचान मिले इन का भी एक id कार्ड हो.

श्रमिक कार्ड, मजदूर कार्ड और लेबर कार्ड तीनो एक ही है.

हरियाणा मजदूर कार्ड योजना के तहत हरियाणा के मजदूर को निम्लिखित सरकारी योजना का लाभ मिलता है.

  • कन्यादान योजना
  • लडकियों की शादी पर वितीय सहायता
  • बच्चो की शिक्षा के लिए आर्थिक सहायता
  • मजदूरों के मेधावी बच्चो के लिए प्रोत्साहन राशी
  • कोचिंग के लिए वितीय सहायता राशी
  • विधवा पेंशन योजना
  • मुख्यमंत्री महिला श्रमिक सम्मान योजना
  • सिलाई मशीन योजना
  • कन्यादान योजना
  • साईकिल योजना
  • अपगता सहायता
  • ओजार खरीदने हेतु उपदान
  • अपगता पेंशन योजना
  • पारिवारिक पेंशन योजना
  • मुख्यमंत्री सामाजिक सुरक्षा योजना
  • और भी बहुत सारी हरियाणा सरकार की योजनाये है जिनका लाभ हरियाणा राज्य के मजदूर ले सकते है.

हरियाणा मजदुर कार्ड योजना के लिए कोन कोन पात्र है

ऐसे श्रमिक-मजदूर जो असंगठित क्षेत्रों में काम करते है. वो इस योजना में आवेदन कर सकते है. निम्नलिखित मजदूर वर्ग के लोग इस योजना के तहत हरियाणा मजदुर कार्ड के लिए आवेदन कर सकते है.

  • भवन और सडक निर्माण का कार्य करने वाले मजदूर
  • बढ़ई
  • लोहार
  • कलर का काम करने वाले पेंटर
  • बिजली का काम करने वाले इलेक्ट्रीशियन
  • टाइल मिस्त्री
  • रोलर चालक
  • सड़क पुल आदि बनाने वाले कारीगर और सहायक।
  • मनरेगा में कार्य करने वाले मजदूर
  • इन सब के अलवा भी मजदूरों की बहुत सारी श्रेणीया है.

मजदूर कार्ड बनाने के लिए लाभार्थी की आयु 18- 55 वर्ष है.

हरियाणा मजदुर कार्ड बनवाने के लिए जरुरी  दस्तावेज

हरियाणा के लिए मजदूर कार्ड बनाने के लिए निम्नलिखित दस्तावेज़ की आवश्यकता होती है.

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • जाती प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • पहचान पत्र
  • बैंक पास बुक

हरियाणा मजदूर कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन केसे करे

इस योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए पहले मजदूर को हरियाणा सरकार के श्रमिक विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा.

मित्रो मजदूर कार्ड  बनाने के लिए आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते है या अपने नजदीकी emitra पर भी जा सकते है क्योकि मजदूर कार्ड बनाने के लिए हर राज्य की अलग अलग वेबसाइट है तो आप अपने स्टेट के  नाम के साथ मजदूर कार्ड लिख्र कर गूगल करेंगे तो आपके राज्य की ही ऑफिसियल वेबसाइट आ जाएगी वहा पर आप ऑनलाइन फॉर्म भर सकते जिसमे आप नाम और डॉक्यूमेंट सम्बंधित अन्य जानकारी भरकर आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते है

  • श्रमिक विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट पर आने के बाद मजदूर को पहले Login ID और पासवर्ड क्रिएट करने होगे.
  • Login ID बनाने के लिए मोबाइल नंबर की जरूरत होगी.
  • मोबाइल नंबर चालू होना चाहिए क्योकि उसपे एक पासवर्ड आएगा.
  • जेसे ही मजदूर की SSO Login ID बन जाती है.
  • तो मजदुर लॉग इन करके मजदूर कार्ड के लिए मागी गई जानकारी भरके सबमिट बटन्स पर क्लिक आवेदन कर सकता है.

हरियाणा मजदूर कार्ड बनाने के बहुत सरे लाभ है

मजदूरों का लेबर कार्ड बनने के साथ ही उनका दुर्घटन बीमा हो जायेगा जिसके लिए उसे सरकार को कोई भी प्रीमियम भुगतान नहीं करना पड़ेगा और उसके बाद यदि बीमाधारक की म्रत्यु हो जाती है तो उसे एक लाख रूपये बीमा कवर दिया जायेगा और यदि बहुत ज्यादा शारिरीक विकलांगता आ जाती है तो  75000 रूपये दिए जायेंगे और यदि किसी दुर्घटना में यदि विकलांगता थोड़ी कम आती मतलब की ज्यादा चोटिल न हुआ तो 37000 की राशि देने का इस योजना में प्रावधान है इसके अलावा विकलांग व्यक्ति के दो बच्चो के 8 वी क्लास के बाद से 1200 रूपये सालाना दो टुकडो में देना का भी प्रावधान है इसके अलावा भी मजदूर कार्ड और बहुत ज्यादा काम आता है

यदि सरकार किसी मजदूर को बंधुआ मजदूर की श्रेणी में रखती है तो उसे एकमुश्त 50000 रूपये देने का प्रावधान भी मजदूर कार्ड में है

मजदूर की पत्नी यदि गर्भवती है तो उसको प्रसव सहायता के लिए सरकार के द्वारा 20000 रूपये की राशि प्रदान की जाएगी

मजदूर कार्ड धारी अपनी बेटियों के विवाह के लिए 51000 की  सहायता राशि प्राप्त करेगा

हरियाणा मजदूर कार्ड  बनाने के पीछे सरकार का लक्ष्य

हर इंसान के जीवन में कुछ काम ऐसे होते है अचानक बहुत खर्चा मांगते है और मजदूर अपने जीवन में जो कमाता है वो अपने खाद्य सामग्री और दैनिक जीवन के काम में ही लगा देता है पर मजदूर कार्ड बनाने के बाद उसे काफी कार्यो में सहायता राशी मिलेगी और किसी से अपने जरुरत के कार्यो के लिए अत्यधिक ब्याज पर रूपये उधार लेने की कम से कम आवश्यकता पड़ेगी

इस योजना के आने से मजदूर के जीवन में सुधार होगा

आर्थिक रूप से सरकार द्वरा सहायता पाने के कारन मजदूर आत्मनिर्भर बनेंगे

आवश्यकता के समय यदि मजदूरों को सरकारी खजाने में विततीय सहायता मिलने से सरकार के प्रति आस्था बनी रहेगी जो की किसी भी देश की प्रगति के लिए आवश्यक है

2 thoughts on “हरियाणा मजदूर कार्ड केसे बनाये | हरियाणा लेबर कार्ड ऑनलाइन आवेदन | मजदुर कार्ड हरियाणा | Haryana Labour Card Kaise Banae || Haryana Majdur Card Online Registration

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *