(PMJDY) प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत करोड़ों महिलाओं को मिले 500 रूपए, अगर आपके पास नहीं प्रधानमंत्री जन-धन योजना खाता तो ऑनलाइन ऐसे खुलवाएं

प्रधानमंत्री जन धन योजना:- भारत देश में COVID-19 की वजह से जो हालात बने हुए है उन्हें देखते हुए भारत सरकार लगातार देश के निम्न वर्ग को किसी न किसी तरीके से आर्थिक सहायता देने की कोशिश में लगी हुई है और पीएम नरेन्द्र मोदी जी के जन धन खाते खुलवाने का भी एक मात्र यही मकसद था कि जब भी कोई आपदा या ऐसे परेशानी उत्पन्न हो तो सरकार सीधे लोगो के खातो में पैसे भेज सके और देश में चले इस भयंकर लोक डाउन के अन्दर केंद्र सरकार ने महिला जन धन खाता धारको के अकाउंट में 500 रूपये की सहयोग राशि भेजी है ताकि गरीबो की ऐसे हालात में मदद की जा सके और अब तक करोडो महिलाओं को जन धन खातो में ये राशी पहुचाई जा चुकी है अगर आपने जन धन खाता नहीं खुलवाया है तो जल्दी कीजिये हम यहाँ आपको खाता खुलवाने की जानकारी पूरे डिटेल में बता रहे जिससे आपको जन धन खाता खुलवाने में कोई परेशानी ना आये.

Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana

Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana

प्रधानमंत्री जन धन योजना (PMJDY)

जन धन खाते के लिए आवेदन कैसे करें ?

-यदि आप भी प्रधानमंत्री जी के द्वारा भेजी जाने वाली हर आर्थिक सहयता प्राप्त करना चाहते है तो आपको जन धन खाता होना अनिवार्य है और यह खाता खुलवाने के लिए आपको बाद डिपार्टमेंट की ऑफिसियल वेबसाइट  https://pmjdy.gov.in/hi-home पर जाना होगा और वेबसाइट पर जाने के बाद यहाँ होम पेज इस योजना के लिए आवेदन पत्र मिल जाएगा आप उसे मांगी गयी आवश्यक जानकारी जैसे नाम, पता और अन्य दस्तावेजो से सम्बंधित जाकारी भरकर कर अपने डॉक्यूमेंट स्कैन कर के अपलोड करने होंगे और आवेदन पत्र सबमिट कर देना है फिर आपको ईमेल पर आपके आवेदन पत्र के सफलतापूर्वक भरे जाने का सन्देश मिल जाएगा

-या फिर आप अपने नजदीकी किसी भी बैंक शाखा में जाकर जन धन खाता का आवेदन पत्र प्राप्त  करके वही जमा करा सकते है और आपके दस्तावेजो की जांच के बाद बैंक में आपका खाता आसानी से खुल जाएगा और आपको इसकी पासबुक भी दो या तीन दिन में मिल जायेगी और साथ में ATM कार्ड भी डाक के माध्यम से आपके घर आ जाएगा

प्रधानमंत्री जन-धन खाता खुलवाने के लिए जरुरी दस्तावेज

आपको किसी भी बैंक में जन धन खता खुलवाने के लिए निम्न जरुरी दस्तावेजो की आवश्यकता रहेगी

आधार कार्ड,

राशन कार्ड ,

पहचान पत्र,

पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ ,

मूल निवास प्रमाण पत्र,

आयु प्रमाण पत्र ,

वोटर आईडी इत्यादि

प्रधानमंत्री जन धन खाता खुलवाने के लाभ

  • पीएम जन धन खाता खुलवाने के बहुत सारे लाभ है ये खात खुलने की बाद आपका स्वत ही दुर्घटना बीमा हो जाता है जिसके अन्दर आपको दो लाख रूपये तक का बीमा कवर देने का प्रावधान है
  • जन धन खाते को आप जीरो बैलेंस राशी के साथ खुलवा सकते है और आपको इस खाते में चेक बुक,atm और बैंक ओवरड्राफ्ट जैसे सुविधाए भी दी जायेगी |
  • जन धन खाता किसी भी बालक का जो दस साल से ज्यादा उम्र का हो, खुलवाया जा सकता है लेकिन खाते से लेन दें उसके माता – पिता ही करेंगे और वह बालक बालिग़ होने के बाद खता उसके नाम पर कर दिया जायगा
  • पीएम मोदी के द्वारा चलाया गया यह जन धन खाता योजना गरीब लोगो के लिए किसी वरदान से कम नहीं है जिसके बहुत सारे अन्य लाभ आगे भी मिलेंगे.

PM किसान सम्मान निधि योजना हेल्पलाइन नंबर, टोल फ्री नंबर | PM Kisan Yojana Toll Free Helpline Number

पीएम किसान सम्मान निधि योजना हेल्पलाइन नंबर:- भारत सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत किसानो के हितो की रक्षा करने के लिए की जिसके अंतर्गत किसानो को कृषि कार्य में सहयोग के लिए आर्थिक मदद सरकार के द्वारा दी जाती है लेकिन कई बार किसानो को यह मदद मिलने में थोडा समय लग जाता क्योकि गरीब किसानो को योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने और बैंकिंग व्यवस्था का जानकारी होती नहीं है जिसकी वजह से अमूमन किसानो को उनकी योजना की राशी उनके खातो में समय पर जमा नहीं हो पाती है और किसानो को समस्या का सामना करना पड़ता है जनता की इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए सरकार ने इस योजना के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है जहा पर कोई भी समस्याग्रस्त किसान फ़ोन  करके अपनी योजना सम्बन्धी समस्या के प्रशन का उत्तर पा सकता है.

PM Kisan Samman Nidhi Yojana Helpline Number

PM Kisan Samman Nidhi Yojana Helpline Number

पीएम किसान सम्मान निधि योजना हेल्पलाइन नंबर

केंद्र सरकार द्वारा जारी टोल फ्री नंबर

केंद्र सरकार के कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने यह जानकारी दी कि किसान सम्मान निधि योजना में कई किसानो से लगातार शिकायत मिल रही थी कि उन्हें योजना की क़िस्त की राशि बैंक से मिलने में कई बार समस्या आती है इसीलिये सरकार ने किसानो की मदद के लिए हेल्प लाइन नंबर लगा दिया सभी किसान इस पर कभी भी कॉल कर सकते है

हेल्पलाइन नंबर    155261,  1800115526

फ़ोन नंबर                 0120-6025109

ईमेल आईडी             pmkisan-ict[at]gov[dot]in

 

इसके अलावा आप विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर भी जा सकते है

https://pmkisan.gov.in/Contacts.aspx

PM Kisan Samman Nidhi Yojana Helpline Number

योजना की हेल्पलाइन शुरू करने का कारण:- भारत सरकार के द्वारा हर साल किसानो की मदद के लिए बहुत सारी योजनाये चलायी जाती है लेकिन ज्यादर किसान अशिक्षित ही होते है और योजना के सम्बन्ध में पूरी जानकारी नहीं होने के कारण समय पर आवेदन नहीं कर पाते है और यदि आवेदन कर भी देते है तो कई बार उनके द्वारा आवेदन पत्र सही ना भरे जाने के कारण उनका आवेदन निरस्त कर दिया जाता है तो कई बार किसान को योजना का रुपया बैंक से लेने में काफी मशक्कत का सामना करना पड़ता है यही कारण है कि सरकार ने अपनी हर एक योजना के लिए अलग हेल्पलाइन नंबर जारी कर रखा है

हेल्पलाइन नंबर जारी करने से किसानो को क्या लाभ मिलेगा

हेल्पलाइन की मदद से किसान को योजना की जानकारी प्राप्त करने के लिए किसी और व्यक्ति के मदद के ऊपर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा

कई बार कुछ शातिर लोग एजेंट बनकर किसानो से योजन की राशी दिलवाने के एवज में कमीशन ले लेते है हेल्पलाइन नंबर जारी होने के बाद किसान को जब खुद ही सारी जानकरी होगी तो वो लुटेरो एजेंटो के चुंगल से खुद को बचा पायेगा

PM  किसान ऐप से मिलेगी हेल्प

किसानो को योजना से सम्बंधित जानकारी मिलने में कोई समस्या ना आये इसके लिए सरकार ने हेल्पलाइन नंबर जारी करने के साथ साथ pm किसान ऐप भी लांच कर राखी जिसकी हेल्प से योजना की हर क़िस्त की जाकारी इस app पर देखी जा सकती है इस app से योजना के लिए आवेदन भी करना काफी सरल है यदि आपने आवेदन नहीं किया है तो ऐप पर जाकर आवेदन कर सकते है

पीएम किसान सम्मान निधि योजना क्या है ?

Also like: प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की पूरी जानकारी

पूरे भारत वर्ष में लोकडाउन होने की वजह से यह योजना शुरू की गयी थी जिसका लक्ष्य है गरीब किसानो को इस मुसीबत के समय में 2000 रूपये की सहायता प्रदान की जाये और अभी तक लगभग 8.5 करोड़ किसानो को इस योजना के अंतर्गत अनुमानित 16000 करोड़ रूपये खातो में भेजे जा चुके है इसके अलावा सरकार ने हेल्पलाइन नंबर जारी किये है

प्रधानमंत्री किसान ट्रैक्टर योजना 2020 ऑनलाइन आवेदन कैसे करे | किसान ट्रैक्टर योजना की सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में

प्रधानमंत्री किसान ट्रैक्टर योजना:- देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी लगातार देश के किसानो के लिए कोई न कोई योजना ला रहे है ताकि देश के कृषक जो सभी के लिए अनाज पैदा करते है उनको कम से कम समस्या हो इसीलिये केंद्र साकार ने किसान हित के अन्दर प्रधानमंत्री किसान ट्रेक्टर योजना की शुरुआत की थी ताकि किसानो को आसानी से अपना खेत जोतने के लिए ट्रेक्टर की व्यवस्था करवाई जा सके इस योजना के आ जाने से काफी हद तक किसानो की समस्या कम हो जायेगी और कम श्रम के साथ ज्यादा उत्पादन कर पायेंगे और साथ ही उनके समय की भी बचत होगी | इस योजना के अंतर्गत किसानो को ट्रेक्टर खरीदने पर सब्सिडी प्रदान की जायेगी जिससे वो गरीब किसान जिनके लिए ट्रेक्टर खरीदना एक बड़ा निवेश वो भी आसानी से अपने लिए इसे खरीद पाएंगे और अपने कृषि कार्य को सुगमता के साथ निष्पादित करेंगे

Pradhanmantri Kisan Tractor Yojana

Pradhanmantri Kisan Tractor Yojana

प्रधानमंत्री किसान ट्रैक्टर योजना

किसान ट्रेक्टर योजना का लाभ देश के सभी वर्ग के किसानो को मिलेगा. देश के जो भी किसान भाई इस योजना का लाभ लेना चाहते है. तो उन्हें इस योजना का अंतर्गत आवेदन करना होगा तभी उनको इस योजना का लाभ मिल सकेगा. इस योजन के तहत जो भी किसान नया ट्रैक्टर खरीदना चाहते है उन किसानो के लिए कम पेसो में नया ट्रैक्टर खरीदने का एक अच्छा मोका है क्योकि सरकार किसानो को नये ट्रैक्टर खरीदने पर सब्सिडी दे रही है और सब्सिडी सीधे किसान के बैंक खाते में ट्रान्सफर की जायेगी इस के लिए किसान का बैंक खता होना जरूरी है. प्रधानमंत्री किसान ट्रैक्टर योजना के तहत एक परिवार से एक ही व्यक्ति आवेदन कर सकता है. इस योजना से देश के उन किसानो बहुत फायदा होने वाला है जिनका सपना अपना खुद का ट्रेक्टर खरीदने का है.

प्रधानमंत्री किसान ट्रैक्टर योजना में आवेदन करने लिए जरुरी शर्ते व पात्रता

इस योजना में आवेदन कर्ता किसान के पास अपनी खुद की जमीन होनी चाहिए क्योकि किसी दुसरे की जमीन पर खेती करने वाले किसान इस योजना के लिए आवेदन नहीं कर पायेंगे|

इस योजना के लिए आवेदन करने वाले व्यक्ति ने इस योजना से लगभग सात दिन पहले तक किसी और योजना के लिए आवेदन ना किया हो अन्यथा वो इस योजना के लिए सब्सिडी की राशि प्राप्त नहीं कर पायेगा

पीएम किसान ट्रैक्टर योजना के लिए जरुरी कागजात

इस योजना के लिए आवेदन करने वाले किसान के पास निम्नलिखित दस्तावेज होना जरुरी है जो आवेदन करते समय चाहिए होंगे |

आवेदन कर्ता किसान के पास भारत की किसी भी बैंक में खाता होना चाहिए क्योकि योजना के लिए मिलने वाली सब्सिडी की राशि डीबीटी के माध्यम से सीधे उसके बैंक खाते में ही भेजी जायेगी

आवेदन कर्ता के पास खुद का आधार कार्ड होना चाहिए जो की उसके बैंक खाते के साथ जुड़ा हुआ

आवेदन कर्ता का पहचान पत्र , मूल निवास प्रमाण पत्र , जाती प्रमाण पत्र , आय प्रमाण पत्र,

किसान जिस जमीन पर खेती करता है उसके कागजात व जमाबंदी होनी चाहिए

पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ,

मोबाइल नंबर इत्यादि

पीएम ट्रैक्टर योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करे

जो कोई भी इस योजना के तहत आवेदन करना चाहे तो उनको अपने राज्य के कृषि विभाग की वेबसाइट पर विजिट करना होगा इसके लिए अपने राज्य के साथ पीएम किसान ट्रेक्टर योजना टाइप करे और आपके राज्य की आधिकारिक वेबसाइट खुल जायेगी , वेबसाइट पर जाकर आपको प्रधानमंत्री किसान ट्रेक्टर योजना का आवेदन पत्र मिल जाएगा , आप उस आवेदन पत्र में मांगी गयी सारी जानकारी जैसे नाम, पता या आधार कार्ड सम्बंधित अन्य जानकारी को भरकर फार्म को सबमिट कर दे, उसके बाद आपके भरे गए आवेदन पत्र व इसके साथ संलिग्न किये गए डॉक्यूमेंट का विभाग सत्यापन करेगा और आपको आपके ईमेल या फ़ोन नंबर पर आवेदन पत्र के सफलतापूर्वक भरे जाने का सन्देश मिल जाएगा

प्रधानमंत्री किसान ट्रैक्टर योजना के लिए ऑफलाइन आवेदन

ट्रैक्टर योजना से मिलने वाले लाभ

इस योजना के लिए किसानो को ट्रेक्टर खरीदने पर 20 से लेकर 50 % तक सब्सिडी सरकार उपलब्ध करवाएगी जिससे किसानो को काफी राहत मिलेगी |

इस योजना में किसान पचास प्रतिशत तक तो सब्सिडी ले लेंगे और शेष पचास प्रतिशत अगर किसान चाहे तो बैंक से लोन ले लेंगे

किसी भी वर्ग के किसान इस योजना का लाभ उठा सकते है जिससे देश के लघु व सीमान्त वर्ग के किसान इस योजना से बड़ी संख्या में लाभान्वित होंगे

मध्यप्रदेश सरकार ने शुरू की नयी योजना ‘एफआईआर-आपके द्वार’ योजना | FIR Aapke Dwar Yojana 2020

एफआईआर आपके द्वार योजना:- इस योजना की शुरुआत मध्यप्रदेश सरकार द्वारा राज्य के गृहमंत्री नरोतम मिश्रा द्वारा पुलिस कण्ट्रोल रूम में 12 मई 2020 को की गयी है इस योजना को कोरोना वायरस जैसे भयंकर महामारी के चलते शुरू किया गया है ताकि लोगो को अपनी शिकायत दर्जा करवाने के लिए प्रत्यक्ष रूप से पुलिस स्टेशन नहीं जाना पड़े और 100 नंबर पर फ़ोन करके ही मध्यप्रदेश का आम नागरिक अब अपनी शिकायत दर्ज करा सकेगा | मध्यप्रदेश पुलिस ने इसे पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में

FIR Aapke Dwar Yojana

FIR Aapke Dwar Yojana

राज्य के 23 थानों से शुभारम्भ किया है और यदि किसी भी नागरिक की शिकायत ज्यादा गंभीर होगी तो पुलिस की बड़े अधिकारी तुरंत घटनास्थल पर जाकर खुद इसका मुयायना करेंगे | ग्रहमंत्री ने पुलिस के सभी वरिष्ठ अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया है कि राज्य के सभी नागरिको की शिकायत पर बिना किसी भेद भाव के आवश्यक कार्यवाही की जानी चाहिए इसके साथ ही गृहमंत्री जी ने ये भी बताया कि इस प्रकार फ़ोन पर fir दर्ज करने वाला मध्यप्रदेश भारत का एक मात्र पहला राज्य और अब इस महामारी के दौर में केंद्र सरकार ये पहल देश के अन्य राज्यों में भी लागू करने के लिए निर्देश जारी कर सकती है

एफआईआर आपके द्वार योजना

मध्यप्रदेश के डीजीपी विवेक जोहरी के दिए बयान के अनुसार जब भी कोई नागरिक 100 नंबर पर एफआईआर कराएगा तो उसके लिए पुलिस विभाग के प्रसिक्षित कर्मचारियों को ही वहां बिठाया जाएगा | इसके साथ ही एफआईआर आपके द्वार योजना को प्रायोगिक योजना के रूप में .31 मार्च तक चलाया जाएगा और बाद में इस योजना के आवश्यक परिणाम देखते हुए इसे मध्य प्रदेश के सभी जिलो में लागू किया जा सकता है

एफ आई आर आपके द्वार योजना में यदि कोई व्यकित किसी को गली गलोच देता है या फिर किसी को पीटना या पीटने की धमकी देना और किसी का वाहन चोरी हो जाना जैसे वारदातों की शिकायत दर्ज करवाई जा सकेगी | बहुत बड़े अपराधो की सूचना इस हेल्पलाइन नंबर पर दर्ज नहीं होगी | इस योजना को लागू करने के साथ ही उज्जेन के पुलिस चौकी में 9 मामले फ़ोन पर ही दर्ज किये गए जिन पर आवश्यक कार्यवाही चल रही है

FIR Aapke Dwar Yojana 2020

इस योजना के साथ ही आपातकालीन परिस्तिथियों से निपटने के लिए राज्य में 112 हेल्पलाइन नंबर की भी शुरुआत की गयी है इस हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके राज्य का कोई भी नागरिक गंभीर रूप से बीमार होने पर एम्बुलेंस सेवा का उपभोग कर पायेगा इसके साथ ही इस नंबर पर फ़ोन करके कही पर भी  आगजनी की स्तिथी उत्पन्न होने पर अग्निशमन विभाग को भी बुलाया जा सकेगा

इस योजना के आरम्भ हो जाने से जहां एक तरफ पुलिस विभाग की जिमीदारी और कार्यभार दोनों में बढ़ोतरी होगी तो उनको इस योजना के शुरू होने पर अलग से प्रिंटर व लैपटॉप भी दिए जायेंगे ताकि वे अपने काम को बेहतर तरीके से संपादित कर सके और इस योजना के लागू हो जाने से पुलिस विभाग को और ज्यादा पुलिस बल की ज़रूरत भी पड़ेगी इस योजना के उद्घाटन पर पुलिस कर्मियों को वरिष्ठ अधिकारियों के द्वारा सेनिटैजर और गमछे भी बांटे गए ताकि पुलिस भी लोगो के सेवा करते समय अपना बचाव कर सके.

(रजिस्ट्रेशन) दिल्ली मजदूर सहायता योजना 2020 | दिल्ली सरकार मजदूरों को दे रही है 5000 रुपये | दिल्ली कंस्ट्रक्शन मजदूर 5000 रुपये आज से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू

दिल्ली मजदूर सहायता योजना 2020:- देश में कोरोना के कहर के चलते पूरी अर्थव्यस्था चकनाचूर हो गयी और इसका सीधा और सबसे जयादा असर रोजाना कमाकर खाने वाले दिहाड़ी मजदूरों के जीवन पर ही पड़ा है क्योकि वे लोक डाउन के चलते कोई भी कार्य नहीं कर सके इसीलिये दिल्ली सरकार ने मुखमंत्री अरविन्द केजरीवाल के नेत्रत्व में इस योजना को शुरू किया है जिसके अन्दर दिल्ली के कंस्ट्रक्शन साईट पर काम करने वाले मजदूरों के खाते में 5000 रूपये की सहायता राशि प्रदान की जायेगी ताकि वे इस लॉक डाउन में अपने लिए राशन पानी की  व्यवस्था जुटा सके | सरकार  के द्वारा प्रदान की जाने वाली ये सहायता राशि केवल पंजीकृत मजदूरों को ही दी जाएगी |

Delhi Majdur Sahayata Yojana

Delhi Majdur Sahayata Yojana

Delhi Majdur Sahayata Yojana

श्रम विभाग के सूत्रों के अनुसार मजदूरों के लिए शुरू की गयी इस योजना से दिल्ली के लगभग 46000 मजदूर लाभान्वित होंगे और मजदूरों को ये आर्थिक राशि देने के लिए 15 मई से एक ऑनलाइन वेब पोर्टल तैयार किया जायेगा जिसके बाद से दिल्ली निवासी मजदूर सीधे इस पर पंजीयन करवा सकेंगे, पंजीयन की प्रक्रिया 25 मई तक चलेगी और उसके बाद सभी पंजीकृत मजदूर को डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए पचास-पचास के समूह में बुलाया जायेगा और दस्तावेजो के सत्यापन के बाद उनके द्वारा दिए गए अकाउंट में ये रूपये सीधे डीबीटी के माध्यम से भेजे जायेंगे |

मजदूरों को सहायता प्रदान करने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविन्द केजरीवाल ने खुद ट्वीट करके बताया के इस महामारी के चलते लोक डाउन बहुत जरुरी है लेकिन दिल्ली सरकार ऐसे हालातो में भी अपने नागरिको साथ नहीं छोड़ेगी और किसी भी गरीब को दिल्ली में भूखा नहीं सोना पड़ेगा इसके आगे मुख्यमंत्री जी ने ये भी कहा की कोरोना के साथ हमारी ये लड़ाई थोड़ी लम्बी चल सकती है लेकिन सबके सहयोग से इसे जीता जा सकता है और कोई भी नागरिक चिंता ना करे ऐसी मुश्किल घडी में नागरिको की हर जरुरत का ख्याल रखा जायेगा

दिल्ली मजदूर सहायता योजना के लिए आवश्यक मापदंड और जरुरी डॉक्यूमेंट

मजदूर मूल रूप से दिल्ली का निवासी होना चाहिए और इसे सत्यापन करने के लिए उसके लिए आवश्यक रूप से मूल निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए

आवेदन करता के पास किसी भी भारतीय बैंक में खाता होना जरुरी है क्योकि योजना की सहायता राशी सीधे बैंक खाते के माध्यम से भेजी जायेगी

आवेदनकर्ता के पास आधार कार्ड होना चाहिए जो उसके बैंक अकाउंट से संलिग्न हो

पहचान पत्र,

आय प्रमाण पत्र और जाती प्रमाण पत्र इत्यादि

दिल्ली मजदूर सहायता योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

सरकार के द्वारा जारी आर्थिक सहायता पाने के लिए मजदूरों को पहले श्रम विभाग की ओफीसिअल वेबसाइट पर  https://labour.delhi.gov.in/home/Office-of-the-Labour-Commissioner के लिंक पर जाकर क्लिक करना होगा और वहां पर इसका आवेदन पत्र मिल जाएगा जिसे मांगी गयी सभी आवश्यक जानकारिय जैसे आपका नाम, पता, मोबाइल नंबर और अन्य सभी दस्तावेज सम्बन्धी आवश्यक जानकारिय भरकर आवेदन पत्र को सबमिट करना होगा और उसके बाद आपके पास आपके द्वरा दिए गए ईमेल या फ़ोन नंबर पर इसके आवेदन के सफलतापूर्वक भरे जाने का सन्देश आ जायेगा

दिल्ली मजदूर सहायता योजना

दिल्ली मजदूर सहायता योजना

दिल्ली मजदूर सहायता योजना के लिए कौन कौन आवेदन कर सकेंगे

श्रम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार साईट पर काम करने वाले मजदूर, चौकीदार, लोहार, पम्प ऑपरेटर, कूली बेलदार, और कारपेंटर  वर्ग के सभी मजदूर इस सहायता राशि को पाने के लिए आवेदन कर पायेंगे

पीएम किसान हेल्पलाइन नंबरClick Here
किसान योजना न्यूज़यँहा देखें
सभी सरकारी योजनाClick Here
प्रधानमंत्री योजनाएंClick Here
Govt Yojanaयँहा देखें

Srkari Yojana से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज पर जुड़ें के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

पीएम मोदी आत्मनिर्भर भारत अभियान राहत पैकेज | आत्मनिर्भर भारत अभियान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | आत्म निर्भर योजना लाभ | Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan

आत्मनिर्भर भारत अभियान 2020:- हमारे देश के प्रिय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने देश को आत्म निर्भर बनाने का फैसला ले लिया है और इसके लिए उन्होंने भारत के गरीब व पिछड़े वर्ग के जीवन में सुधार के लिए बीस लाख करोड़ रूपये की आर्थिक पैकेज की घोसणा स्वयं लाइव आकर की थी | मोदी जी ये पैकेज आने वाले समय में भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए दिया है ताकि भविष्य में कोई भी कोरोना जैसी अन्य महामारी आ भी जाये तो हमारे देश की अर्थव्यवस्था पर कोई भी प्रभाव नहीं पडना चाहिए

Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan

Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan

क्या है आत्म निर्भर भारत अभियान (Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan)

किसानो की मुश्किलें होगी कम – इस आर्थिक पैकेज से सबसे बड़ा लाभ देश के किसानो को ही मिलेगा क्योकि कोई भी प्राकृतिक या कृत्रिम आपदा आने का सबसे ज्यादा नुक्सान किसानो को ही झेलना पड़ता है इसलिए केंद्र सरकार द्वारा दिए गए आर्थिक पैकेज का एक बड़ा हिस्सा किसानो के कल्याण के लिए उपयोग किया जाएगा | आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत देश के तीन करोड़ से भी ज्यादा किसानो के लिए सरकार ने लगभग 4.22 लाख करोड़ रूपये का कृषि लोन के लिए पैकेज पास किया है जिससे किसान को कृषि कार्यो में बहुत बड़ी आर्थिक सहायता मिलेगी और किसानो को इस लोन को चुकाने के लिए तीन महीने तक कोई भी क़िस्त चुकाने की भी बाध्यता नहीं है | आत्मनिर्भर भारत अभियान में सबसे ज्यादा किसानो को है सशक्त बनाने की कोशिश की जायेगी ताकि देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाया जा सके इसी के चलते देश के सहकारी बैंको और ग्रामीण क्षेत्रीय बेंको को सरकार ने 29500 करोड़ रूपये दिए है ताकि देश के अनादताओ को ऋण देने में कोई दुविधा ना आये

Aatm Nirbhar Yojana- आत्म निर्भर योजना

हमारी वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने देश के छोटे उद्योगपतियों के लिए 100000 करोड़ रूपये का फंड्स ऑफ़ ऑफ़ फण्ड बनाने की घोसणा की है जिससे कि छोटे व्यापारियों को अपना व्यापार शुरू करने में काफी मदद मिलेगी और इस फण्ड से छोटे उद्यमियो को बिना गारंटी के बैंक से लोन मिल पाना संभव होगा जिससे भारत को आत्मनिर्भर बनाने में मदद मिलेगी ?

इसके अलावा केंद्र सरकार ने सभी राज्यों के गरीब व प्रवासी मजदूर लोगो के लिए राज्य सरकारों को 11000 करोड़ बजट देना तय किया है ताकि राज्य के सभी दिहाड़ी मजदूर व गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगो को इस आर्थिक राशि का लाभ मिल सके सभी राज्यों ने अब तक लगभग तीन करोड़ मास्क बनवाए है जिससे की वहां के स्थानीय लोगो को रोजगार भी मिला है

Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan (आत्मनिर्भर भारत)

इसके अलावा मोदी जी ने सभी भारतीयों से आग्रह किया है कि यदि भारत आने वाले समय में अपने आपको आत्मनिर्भर देश के रूप में देखना चाहता है तो केवल स्वदेशी उत्पादों का ही उपयोग करें क्योकि इससे देश का पैसा भार नहीं जायेगा और भारत के ग्राहकों का रुपया भारत के उद्योगपतियों के पास ही रहेगा जिससे के किसी संकट की घडी में वो हमें सहयोग भी करते है उदाहरन के लिए कोरोना से लड़ने की लिए रतन टाटा ने भारत को 1500 करोड़ का दान दिया न की कोई विदेश उद्योगपति ने हमारी मदद की है तो सभी भारतीयों को मोदी जी के बताये निर्देशानुसार स्वदेश ही खरीदेंगे तो भारत बहुत ही जल्द आत्मनिर्भर बनेगा और तब जाकर आर्म्निर्भर भारत अभियान सफल हो सकेगा.

आत्मनिर्भर भारत अभियान राहत पैकेज के अंतर्गत महत्वपूर्ण क्षेत्र

  • कृषि प्रणाली (Reformation Of Agricultural Supply Chain & System)
  • सरल और स्पष्ट नियम कानून (Rational Tax System)
  • उत्तम आधारिक संरचना (Reformation Of Infrastructure)
  • समर्थ और संकल्पित मानवाधिकार ( Capable Human Resources)
  • बेहतर वित्तीय सेवा (A Good Financial System)
  • नए व्यवसाय को प्रेरित करना (To Motivate New Business)
  • निवेश को प्रेरित करना (Provide Good Investment Opportunities)
  • मेक इन इंडिया (Make In India Mission)

आत्म निर्भर योजना के लाभ व पात्रता 2020 | मोदी ने की 20 लाख करोड़ रुपयों के आर्थिक पैकेज की घोषणा किस किस को मिलेगा लाभ | Aatm Nirbhar Yojana 2020

आत्म निर्भर योजना:- हम्रारे देश के प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेन्द्र जो मोदी ने 12 मई, मंगलवार को रात लाइव आकर देश के गरीब व निचले तमगे के लिए 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोसणा की है| मोदीजी ने अपने संबोधन में ये भी कहा कि इस भयंकर महामारी के चलते हमारी अर्थव्यवस्था का स्तर काफी गिरा है लेकिन इस आर्थिक पैकेज के माध्यम से हम हमारी आर्थिक व्यवस्था को फिर से मजबूत करेंगे और ये आर्थिक पैकेज भारत की अर्थव्यवस्था की एक अहम् कड़ी के रूप में काम करेगा | इस आर्थिक पैकेज से किसानो के हालत में सुधर होगा और देश के निवेश कर्ताओं को भी इससे  बहुत फायदा मिलेगा |

Aatm Nirbhar Yojana

Aatm Nirbhar Yojana

आत्म निर्भर योजना 2020

यह आर्थिक पैकेज भारत की जीडीपी का करीब करीब 10% के बराबर है 13 मई को हमारे देश की वित्त मंत्री इस पैकेज के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेगी इस केंद्र सरकार के इतने बड़े आर्थिक पैकेज को किस तरह उपयोग किया जाएगा और किस तरह से यह देश की गरीबो तक पहुचेगा | इसके अलावा उन्होंने अपने संबोधन में देश से कहा कि भारत ने पिछले छ साले में अपनी अर्थव्यस्था में बहुत अधिक सुधर किया है लेकिन अब भारत को अब इसमें विश्व स्तर पर सुधार करना होगा ताकि आने वाले दिनों में भारत एक नयी शक्ति बनकर दुनिया के सामने उभरे

मोदी ने की 20 लाख करोड़ रुपयों के आर्थिक पैकेज की घोषणा

ये पैकेज देश के उस श्रमिक वर्ग के लिए है जिसने देश की इस संकट की घडी में भी मदद की है और अपने सेवाओ को यथावत बनाये रखा है | देश के किसानो, मछुवारो, रेडी लगाकर सब्जी बेचने वाले, संगठित और असंगठित क्षेत्र के मजदूर इन सब को इस आर्थिक पैकेज से लाभ प्रदान किया जाएगा क्योकि ये लोग ही जो देश के लिए हर रोज पसीना बहाकर काम करते है और सभी देशवासियों और उच्च वर्ग के लोगो के लिए प्रत्यक्ष रूप से अपने सेवा देते है

आत्म निर्भर योजना का उद्देश्य

इसके साथ ही मोदी जी ने ये भी कहा की इतनी बड़ी महामारी के चलते बड़े बड़े  देशो की अर्थव्यस्था भी चकनाचूर हो गयी है वही भारत के स्थानीय लोगो ने ही हमारी मदद की और हमारे भारत के बनाये गए उत्पादों से हमारे दैनिक जीवन की जरूरतों की पूर्ती हो सके इसलिए हमारे प्रधानमन्त्री देश के लोगो से आग्रह किया है कि वो आने वाले दिनों में देशी वस्तुओ का ही उपभोग करे जिससे कि भारत की वित्त व्यवस्था मजबूत होगी और हमारे स्थानीय लोगो के लिए और भी ज्यादा रोगगार के अवसर उत्पन्न होंगे और यदि आने वाले समय में कोई भी और महामारी आ भी जाती है तो हमारी अर्थ्व्यस्था इतनी मजबूत होगी कि किसी भी बड़े संकट से बड़े आसानी से हम निपट सकेंगे लेकिन इस सब के लिए हमें अपने लोगो के द्वारा बनायी लोकल ब्रांड्स का ही उपयोग करना होगो और हमें खुद ही इसका प्रचार परसार करके हमें अपनी ही चीजों को ब्रांड बनाना है क्योकि कोरोना जैसे संकट की घड़ी में हमारे देश के रतन टाटा जैसे उद्योगपतियों ने ही हमारी आर्थिक मदद की न के कोई विदेश उद्योगपतियों ने, जिनका सामन ब्रांड समझकर खरीदते है

आत्म निर्भर भारत योजना के लाभ

मोदी जी ने अपन संबोधन में कहा कि इस आर्थिक पैकेज से हमारे देश के सभी वर्गों की कुशलता बढ़ेगी और गुणवत्ता में भी सुधार होगा और हम वित्तीय दृष्टी से आत्मनिर्भर बन सकेंगे | इसके साथ उन्होंने बताया की इस संकट में हमारे देश की लोग रोजाना के लगभग दो लाख से भी जयादा पीपीटी किट बना रहे है जो कि इस संकट के दौर में हमें संक्रमण से बचने में मदद करेंगे और भारत दुसरा सबसे बड़ा देश है जो इतने किट तैयार कर रहा है की हम अपने देश के साथ दुसरे देश के लोगो की भी मदद कर पायेंगे और ये सब मुमकिन हुआ है देश के श्रमिको के वजह से और इसी कारण मोदीजी ने देश को और ज्यादा सुद्रढ़ बनाने के लिए इतने बड़े आर्थिक पैकेज की घोसणा की है.

आरोग्य सेतु एप्प: COVID-19 कोरोना ट्रेकिंग Arogya Setu App Download & Install

Arogya Setu App:- आज कोरोना नाम के भयंकर वायरस ने पूरी दुनिया को चिंताग्रस्त कर रखा है न जाने कब कौन कोरोना संक्रमित हो जाये और हम अगर इस वायरस से संक्रमित होंगे तो आप मान के चलिए कि हम अकेले नहीं अपने माता- पिता, पति –पत्नी, बच्चो और मित्रो सबको को भी संक्रमित कर देंगे | इसी तथ्य को ध्यान में रखते हुए मोदी सरकार ने आरोग्य सतु एप को लांच किया है इस एप से अगर हमारे आस – पास कोई भी कोरोना संक्रमित नागरिक होगा है तो ये एप हमें  चेतावनी दे देगा कि आप किसी विशेष दिशा में आगे ना बढे और इस तरह मात्र एक एप को डाउन लोड करके हम अपनी और अपने परिवारजानो की सुरक्षा कर सकते है | हमारे देश के प्रधान मंत्री मोदी जी ने खुद लाइव आकर इस एप को डाउन लोड करने के लिए सभी देशवासियों से आग्रह किया है ताकि हम सब एक सुरक्षित जीवन जी सके और इस बढती महामारी को नियंत्रित किया जा सके.

Also Read: पीएम किसान योजना मोबाइल एप्प

आरोग्य सेतु एप्प

आरोग्य सेतु एप्प

Arogya Setu App क्या है ?

केंद्र सरकार ने पूरे देश में 24 मार्च से लेकर अब तक लोक डाउन कर रखा है और ३ अप्रैल को ही इस एप को जनता की सुरक्षा के लिए लांच कर दिया है

आरोग्य सेतु एप्प  हमारी केसे मदद करेगा?

आरोग्य सेतु एप को एंड्राइड व आइफोन दोनों पर उपयोग के लिए बनाया गया है इस एप को डाउन लोड करने के बाद आपको इसमें आपके स्वस्थ्य सम्बन्धी जानकारी मांगी जायेगी जैसे की आपको बुखार रहता है कि नहीं और अन्य प्रशन पूछे जायेंगे आपका जैसा भी स्वस्थ्य रहता हो इसमें आप वही जानकारी सही सही भर देंगे उतना ही ज्यादा ये एप आपकी लिए मददगार साबित होगा | सारी जानकारी देने के बाद आपको इस एप के बेहतर अनुभव के लिए अपने मोबाइल का ब्लूटूथ, लोकेशन और इन्टरनेट हमेशा ओन ही रखना है

Arogya Setu App Highlights

एप्प का नामआरोग्य सेतु एप्प
एप्प का मकसदकोरोना वायरस से संक्रमित लोगों और उच्च जोखिम वाले स्थानों का पता लगाना
एप्प का प्रकारAndroid / IOS
द्वारा जारी किया गया ऐपभारत सरकार
एप्प का अधिकारएनआईसी ई-सरकार मोबाइल एप्प

आरोग्य सेतु एप्प को अपने मोबाइल में डाउनलोड केसे  करे

  • इसे डाउनलोड करने के लिए अपने मोबाइल के प्ले स्टोर में AAROGYASETU टाइप करे और और वहां इनस्टॉल का आप्शन मिल जाएगा| जहां से आसानी से आप इस मोबाइल में इनस्टॉल कर पायेंगे
  • मोबाइल में इंस्टाल करने के बाद आप इसमें अपनी इच्छानुसार अंग्रेजी या हिंदी भाषा का चुनाव करे वेसे इस एप को निर्माताओ ने पूरे भारत के लोगो के हिसाब से 11 भाषाओ में लांच किया है ताकि हर राज्य के नागरिक इसको आसानी से उपयोग करके अपनी सुरक्षा कर सके और कोरोना संक्रमण से खुद को व अपने साथ वालो को बचा सके
  • अपनी भाषा का चुनाव करने के बाद आपको अपना मोबाइल नंबर पंजीयन करना होगा और फिर इस एप में कुछ हरा और पीला कोड बनाया गया है जो कि आपको बताएगा की आप सुरक्षित है या नहीं | यदि पील रंग इंगित होता है तो आपको खतरे में है और आपको तुरंत अपने नजदीकी स्वस्थ्य केंद्र पर अपनी जांच करवानी होगी या फिर कोरोना हेल्पलाइन नंबर भी इसी एप पर मिल जायेंगे | आप उस पर भी फ़ोन कर सकते है
  • आपके द्वारा भरी गयी जानकारी के आधार पर यदि ये हरा रंग इंगित करता है इसका मतलब की आप सुरक्षित है आप को चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं और आप लोगो से दूरी बनाये रखे व बिना आवश्यकता के घर से बाहर ना निकले

आरोग्य सेतु आपको पर आपका डाटा कितन सुरक्षित है?

कुछ लोगो को ये संदेह है की इस एप में जो डाटा फीड करने को बोला जा रहा है उससे लोगो की निजी जानकारी थर्ड पार्टी तक पहुँचने का खतरा रहता है जबकि विशेषज्ञों ने ये दावा किया है इस एप में जो डाटा लोगो से माँगा रहा है वो बिलकुल सुरक्षित रहेगा व लोगो के डाटा का कोई भी गलत उपयोग नहीं किया जाएगा इसके अलावा सरकार लोगो के द्वारा मांगे गए डाटा को केवल हेल्थ रिसर्च जैसे कार्य के लिए ही उपयोग लेगी

लॉकडाउन में फंसे राजस्थान के मजदूर ऐसे करें घर वापसी के लिए करे ऑनलाइन आवेदन | Rajasthan Migrant Workers Return Registration

लॉकडाउन में फंसे राजस्थान के मजदूर ऐसे करें घर वापसी के लिए आवेदन:- राजस्थान सरकार ने अपने राज्य के लोगो को घर वापस बुलाने की अनूठी पहल जारी की है जिसके तहत वो लोग जो अपने घरो से दूर कही और कमाते है या किसी काम से गये हुए थे और इस कोरोना वायरस के लोक डाउन के चलते अन्यत्र स्थान पर फँस गये है उनके लिए सरकार ने ये व्यवस्था की है | इसके लिए दूसरी जगह फंसे हुए लोगो को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होगा जिसके बाद ही राजस्थान सरकार उन लोगो को वहा से लाने या ले जाने की सुविधा मुहैया करवाएगी | विभागीय जानकारी के अनुसार अभी तक राजस्थान सरकार को इस वेबसाइट पर ऐसे सात लाख लोगो के आवेदन मिल चुके है जिनमे से कुछ तो राजस्थान के बाहर गये हुए थे जो वापस राजस्थान लौटना चाहते है और कुछ अन्य राज्यों के लोग जो बाहर से आये थे वो वापस अपने स्टेट में जाना चाहते है | इसके साथ ही राज्य सरकार ने केंद्र से गुहार लगायी है कि ट्रेन व्यवस्था को किसी नियत समय और दिन पर शुरू किया जा सके ताकि एक साथ बहुत से लोगो को अपने राज्य वापस भेजने में राज्य सरकार को बहुत ज्यादा मात्र में वाहनों का इंतजाम ना करना पड़े | क्योकि उससे भी लोक डाउन भंग होता है

लॉकडाउन में फंसे राजस्थान के मजदूर ऐसे करें घर वापसी के लिए आवेदन

लॉकडाउन में फंसे राजस्थान के मजदूर ऐसे करें घर वापसी के लिए आवेदन

लॉकडाउन में फंसे राजस्थान के मजदूर ऐसे करें घर वापसी के लिए आवेदन

आवेदनकर्ताओ के लिए जरुरी डॉक्यूमेंट

  • आवेदनकर्ता का अपना पहचान पत्र या आधार कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस
  • नागरिक किस जगह पर फसा हुआ है उसका पूरा पता
  • आवेदन कर्ता का पूरा स्थायी एड्रेस

साकार द्वारा घर वापसी करने की शर्ते

  • जो नागरिक इस लोक डाउन में कहीं और फस गया है तो यदि सरकार उसे घर भेजने की व्यवस्था करवाती है तो उसे अपनी पूरी मेडिकल जांच करवानी होगी और लगभग 14 या 15 तक अपने आप को आइसोलेट रखना होगा | इसके अलावा सरकार जिस भी साधन से उसे घर लेकर आएगी उस व्यक्ति को उसी साधन से घर आना पड़ेगा

सरकार ने एक आदेश ये भी जारी किया है की दुसरे राज्य से आने वाले नागरिको के पास यदि  अपना खुद का वाहन है तो वो अनुमति लेकर अपनी सुविधानुसार आ सकते है पर राजस्थान में वापस आते ही उन्हें स्वास्थ्य विभाग के सामने प्रस्तुत होना होगा और आवश्यक जांच करवानी होगी और ठीक इससे तरह जो लोग भी यहाँ से अपने स्थान पर भेजे जायेगी| उनकी भी पूरी चिकित्सकीय जांच के बाद भी यहाँ से भेजा जाएगा | हालांकि सरकार ने 1000 से ज्यादा बसों की व्यवस्था करके पहले ही कई मजदूरों को अपने घरो पर पंहुचा चुकी है

लोक डाउन में राजस्थान सकरार द्वारा जारी हेल्पलाइन

राजस्थान में जो लोग लोक डाउन की वजह से अपने घरो में ही है और यदि उनमे से कोई बीमार पड़ जाता है तो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इसके लिए उनके घर पर ही दवा भेजनी की भी व्यवस्था करवा रखी है और इसके लिए एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी कर दिया गया जिसमे रोगी फ़ोन करके अपनी समस्या बता सकता है और फिर उसके द्वरा बताई गयी लोकेशन पर ही उसकी दवाई पहुंचा दी जायेगी

हेल्पलाइन नंबर – 0141-2228600