कुसुम योजना |ऑनलाइन आवेदन,एप्लीकेशन फॉर्म | PM Kusum Yojana, Apply, Form, Online Registration 2020

By | July 28, 2020

किसान कुसुम योजना: भारत सरकार ने किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार करने के लिए पूरे देश में “किसान कुसुम योजना” को लागू किया है। इस योजना को उन क्षेत्रों के लिए लागू किया गया है। जहां पर किसान बिजली की समस्या के कारण डीजल पंप या बिजली पंप से खेतों के पानी की सिंचाई नहीं कर पाते हैं।वर्तमान समय में देश से क्षेत्रों में किसानों को 24 घंटे में से मात्र 6 से 7 घंटे ही बिजली प्राप्त होती है। जिससे फ़सलों को नुकसान होने की ज्यादा संभावनाएं रहती है। इस योजना के तहत किसानों के डीजल सिंचाई पंपों और बिजली सिंचाई पंपों को बदला जाएगा। इन सिंचाई पंपों की जगह पर सौर ऊर्जा से चलने वाले सोलर सिंचाई पंपों को प्रदान किया जाएगा।

कुसुम योजना का पूरा नाम किसान उर्जा सुरक्षा और उत्थान महाअभियान है। इस योजना को लागू करने का उद्देश्य 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करना है। केंद्र सरकार ने इस योजना का बजट 1.40 लाख करोड रुपए रखा है। इस योजना के अंतर्गत किसानों को सोलर पंप प्राप्त करने के लिए सोलर पंप की कीमत का मात्र 10% ही देना होगा, बाकी का खर्च राज्य सरकार के द्वारा उठाया जाएगा। कुसुम योजना से पहले चरण में 18 लाख डीजल पंप की जगह पर सोलर पंप प्रदान किया जाएंगे।

कुसुम योजना

PM Kusum Yojana

किसान कुसुम योजना के फायदे 

1.  कुसुम योजना के तहत किसानों को प्राप्त होने वाले सोलर सिंचाई पंपों से एक समय में 11 घंटे से ज्यादा खेतों की सिंचाई हो सकती है।

2.  किसानों को सोलर पंप प्राप्त करने के लिए राज्य सरकारों के द्वारा सब्सिडी भी प्रदान की जाएगी।

3.  कुसुम योजना के तहत किसान अपनी बंजर भूमि पर सरकार के द्वारा मिलने वाले सोलर प्लेटों को लगाकर बिजली पैदा करके ग्रिड को बेच सकता है। सरकार प्रति यूनिट ₹3 किसानों को प्रदान करेगी।

किसान कुसुम योजना के लिए पात्रता मापदंड ;

1.  इस योजना के तहत देश के किसी भी राज्य का कुसुम इस योजना का लाभार्थी बन सकता है लेकिन ! उसके राज्य में यह योजना राज्य सरकार के दौरान लागू होने चाहिए।

2.  कुसुम योजना में किसी भी वर्ग का किसान आवेदन कर सकता है।

3.  कुसुम योजना के तहत वह किसान ही इस योजना के पात्र बन सकते हैं! जो खुद की ज़मीन पर ही खेती करते हैं, किराए की ज़मीन पर खेती करने वाले किसान इस योजना के पात्र नहीं होंगे।

किसान कुसुम योजना के लिए दस्तावेज़

1.  किसान का आधार कार्ड.

2.  किसान का किसान कार्ड.

3.  किसान के खेत की खतौनी नंबर.

4.  किसान के ज़मीन के कागज़ात.

5.  किसान के बैंक डायरी की फोटो-कॉपी.

6.  किसान का राशन कार्ड.

7.  किसान के द्वारा उपयोग में लिए जा रहे डीजल पंप की संख्या का प्रमाण पत्र.

8.  किसान के पासपोर्ट साइज फ़ोटो.

किसान कुसुम योजना में आवेदन करने का तरीक़ा ;

कुसुम योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन ही मान्य होंगे! ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको:

1.  कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://kusumyojana.gov.in पर जाकर पंजीकरण करवाना होगा।

2.  इस लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक वेब पोर्टल ओपन होगा, जहां पर आपको अपने राज्य का चयन करना होगा।

3.  इसके बाद आपके सामने इस योजना का फॉर्म ओपन हो जाएगा।

4.  इस फॉर्म में आपको अपना नाम, पता, बैंक खाता जानकारी, आधार कार्ड संख्या इत्यादि जानकारी सावधानी पूर्वक भरकर फॉर्म को सबमिट करना होगा।

5.  फॉर्म के सबमिट करने के बाद आपके सामने एक अन्य फॉर्म उपलब्ध होगा, जहां पर आप अपना फोटो, खेत की खतौनी नंबर, भरकर सबमिट करना होगा।

6.  उसके बाद फॉर्म का प्रिंट निकालकर, इसे जिला कार्यालय/तहसील कार्यालय या पंचायत कार्यालय में जाकर जमा करवाना होगा।

फॉर्म के अप्रूव होने के बाद आपको इस योजना के सारे फायदे प्रदान किए जाएंगे।

कुसुम के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप कृषि विभाग के संपर्क सूत्र 011-23381092 पर कॉल कर सकते हैं।

Srkari Yojana से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज पर जुड़ें के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

One thought on “कुसुम योजना |ऑनलाइन आवेदन,एप्लीकेशन फॉर्म | PM Kusum Yojana, Apply, Form, Online Registration 2020

  1. Vitthal Rokade

    PM kisanPm kisan या योजनेचा लाभ मिळत नाही शेतकरयांना एक वर्ष पूर्ण झाले आहे तरी करेक्शन बाकी आहे तरी मोदी शेतकरयांना लाभ देत आहे पण सरकारी अधिकारी या गोष्टी कडे लक्ष्य देत नाही आता एप्रिल महिन्यात PM kisan योजनेचा लाभ घेण्यासाठी खुप शेतकरी बेजार आहे करेक्शन मुळे साम टिव्ही नि तरी दखल घेतली पाहिजे बातमी दाखवली तर शेतकरयांना लाभ मिळेल परभणी जिल्ह्यातील शेतकरी आहे 0120602509 fake hai helpline number

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *